गणित, जीवन की प्राथमिक इकाई

गणित न केवल रोजमर्रा की जिंदगी, बल्कि आने वाले कल के कुछ सबसे तेजी से बढ़ते करियरों का आधार है

गणित अब पहले से कहीं ज्यादा मायने रखता है। हर कोई इसे सीख सकता है और इसका उपयोग सोचने और हल करने, दुनिया का अन्वेषण करने और उन खोजों को साझा करने, और नई चीजों का निर्माण, यहां तक कि विचारों का सृजन करने के लिए कर सकता है। हम सब गणितज्ञ हैं!

गणित को अक्सर "विज्ञान की भाषा" के रूप में वर्णित किया जाता है - ऐसा इसलिए है क्योंकि गणितीय अवधारणाएं, समस्या-समाधान कौशल और तार्किक सोच विज्ञान, प्रौद्योगिकी और इंजीनियरिंग के क्षेत्रों के मूल में है। इन क्षेत्रों में करियर अन्य नौकरी क्षेत्रों की तुलना में 1.5 गुना अधिक तेजी से बढ़ रहे हैं

करियर जो मायने रखते हैं

गणित निर्माण से लेकर ग्राफिक डिजाइन और वास्तुकला तक कई करियर मार्गों का पूरक है, जो सभी माप, ज्यामिति और रूपांतरण जैसे गणितीय कौशलों पर निर्भर करते हैं।

व्यवसाय चलाना भी गणित पर निर्भर करता है - आपको वित्तीय प्रबंधन कौशलों जैसे वेतन और करों की गणना करने और मुनाफे को समझने की आवश्यकता होती है।

डॉक्टरों और नर्सों सहित हेल्थकेयर पेशेवर भी गणित का उपयोग करते हैं, जैसे दवा की खुराक की गणना करना और अपने रोगियों के लिए सार्वजनिक स्वास्थ्य आंकड़ों की व्याख्या करना।

गणित लगभग हर करियर में होता है। आज के छात्र गणित की सुदृढ़ पृष्ठभूमि और अधिक आत्मविश्वास के साथ आने वाले कल की नौकरियों का सामना करेंगे।

आने वाले कल की नौकरियां

गणित पारंपरिक करियर की नींव से कहीं अधिक है - यह आने वाले कल की नौकरियों के लिए अत्यधिक प्रासंगिक है।

हम 'विराट डेटा' के युग में जी रहे हैं - क्योंकि हम अपना अधिकांश जीवन ऑनलाइन जी रहे हैं इसलिए पहले से कहीं अधिक तेजी से अधिक डेटा का उत्पादन हो रहा है। इसका मतलब है कि डेटा एकत्र करने, विश्लेषण करने, व्याख्या करने और संचार करने के कौशलों और योग्यताओं वाले लोगों की बड़ी मांग है।

मशीन लर्निंग और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस से लेकर क्रिप्टोकरेंसी और ब्लॉकचेन तक - संख्याएं और डेटा अगली डिजिटल क्रांति को प्रेरित कर रहे हैं। तकनीक में तेज़ी से होते हुए परिवर्तनों के लिए गणित में ठोस आधारभूत ज्ञान की मांग अब पहले से कहीं अधिक हो गई है।

वर्तमान और भविष्य के लिए कौशल

1960 के दशक से वर्तमान तक, विश्लेषणात्मक, संज्ञानात्मक और गणितीय कौशल की आवश्यकता वाले नौकरी बाजार की हिस्सेदारी 15 से 30 प्रतिशत यानी दोगुनी हो गई है। और डिजिटल कौशलों की मांग एकदम बहुत ज़्यादा बढ़ गई है - अब हर क्षेत्र और उद्योग में 87 फीसदी नौकरियों में इनकी आवश्यकता है।

गणित का ठोस आधार रोजमर्रा की जिंदगी को मजबूत करेगा और लगभग किसी भी करियर में चार चाँद लगाएगा।

गणित के प्रति प्रेम को प्रेरित करने के लिए मजेदार, व्यावहारिक और रचनात्मक तरीके खोजें। Everyday Maths Hub पर जाएं।

Similar resources

Was this page helpful?
With your help we can improve this page for others
Thank you for your feedback
Return to top of page Back to top